DIO के बारे में

DIO के कार्यान्वयन के तौर-तरीके DIO के अंतर्गत रक्षा उत्कृष्टता के नवाचार के रूप में एक विशेष समूह द्वारा व्यवस्थित किये जाएंगे। DIO रक्षा उत्कृष्टता नवाचार को उच्चस्तरीय नीति का दिशानिर्देश प्रदान करेगा। रक्षा उत्कृष्टता नवाचार के पास कार्यात्मक स्वराज्य होगा।   रक्षा उत्कृष्टता नवाचार  का मुख्य कार्यपालक अधिकारी DIO द्वारा चुना जायेगा और नियुक्त किया जायेगा और वो एक स्वस्थ तकनीकी, वैज्ञानिक और अभियांत्रिकी पृष्ठभूमि वाला एक  व्यवसायी मनुष्य होगा जिसके पास नवाचार और अनुसंधान में विभिन्न ज्ञान और अनुभव होगा I रक्षा उत्कृष्टता नवाचार  का मुख्य कार्यपालक अधिकारी DIO का भी मुख्य कार्यपालक अधिकारी होगा, रक्षा उत्कृष्टता नवाचार जिसके चलते वह DIO द्वारा दिए गए उच्चस्तरीय नीति दिशानिर्देश और उसके कार्यान्वयन के बीच की कड़ी प्रदान करेगा, रक्षा उत्कृष्टता के नवाचार  के माध्यम से एक  व्यवसायी तरीके में I
Resource
Operationalization plan for DIO & iDEX

ऊपर दिए गए कार्यों को निष्पादित करने के लिए, रक्षा उत्कृष्टता नवाचार के समूह को नीचे दी गयी गतिविधियों को आरम्भ करना पड़ेगा:

[A]
स्वतंत्र रक्षा नवाचार केन्द्रों के रूप में रक्षा उत्कृष्टता नवाचार के संजाल की व्यवस्था करना और प्रबंध करना।   
[B]
रक्षा और वांतरिक्ष ज़रूरतों के विषय में रक्षा उत्कृष्टता नवाचार के संजाल के माध्यम से नवीन आविष्कारों/ युवा व्यापारो के साथ वार्तालाप करना
[C]
रक्षा और वान्तरिक्ष उपयोग के लिये संभावित प्रौद्योगिकियों को अल्प्सूचित करने के लिये विभिन्न बुलावोन्/ किरायोन् को व्यवस्थित करना
[D]
उचित अनुपात में बड़े स्वदेशीकरण को सुकर बनाना और सफल संचालित प्रौद्योगिकियों के लिए विनिर्माण सुविधाओं में एकीकरण I
[E]
उपयोगिता के अनुसार नवीन आविष्कारों/युवा व्यापारों से रहे प्रौद्योगिकियों और उत्पादों का मूल्यांकन करना और भारतीय रक्षा और वान्तरिक्ष व्यवस्था पे प्रभाव डालना
[F]
सैन्य (आर्मी/नौसेना/वायुसेना) प्रमुख अधिकारियों के साथ मूल अभिनव प्रौद्योगिकियों के लिए अंतराफलक करना और उनके दत्तक ग्रहण को उपयुक्त सहायता के साथ प्रोत्साहित करना (अगर वित्तीय अपेक्षित हो) I