रक्षा उत्कृष्टता नवाचार के बारे में

हाल के कुछ सालों में भारत सरकार ने भारतीय व्यावसायिक प्रणाली में नवोन्मेष और उद्यमिता को प्रोत्साहित करने के लिए विभिन्न योजनाओं का आरंभ किया है, जैसे की मेक इन इंडिया, स्टार्टअप इंडिया, अटल इनोवेशन मिशन (AIM) आदि इससे यह विस्तार से प्रत्यक्ष होता है कि भारतीय सैन्य को आत्मनिर्भरता के लक्ष्य को हासिल करने के लिए शस्त्र प्राप्ति की प्रक्रिया में नवोन्मेष को तीव्रता से सम्मिलित करने के तरीकों की ज़रुरत होगी रक्षा मंत्रालय एक ऐसे पारिस्थितिकी तंत्र का सृजन करने का लक्ष्य बनाता है जो R&D संस्थानों, शिक्षाओं, उद्योगों, युवा व्यापारों और व्यक्तिगत नवीन आविष्कारों का संलग्न करके नवाचार और रक्षा में प्रौद्योगिकी विकास को प्रोत्साहित करता है
Resource
Operationalization plan for DIO & iDEX

अप्रैल २०१८ में प्रक्षेपण

और उन्हें अनुदान/वित्त पोषण प्रदान करता है और उन्हें अनुदान/वित्त पोषण और अनुसंधान एवं विकास को सिद्ध करने के लिए अन्य समर्थन प्रदान करेगा जिसकी भारतीय रक्षा और वांतरिक्ष की ज़रूरतों के भविष्य दत्तक ग्रहण  के लिए अच्छी क्षमता है रक्षा उत्कृष्टता नवाचार 'रक्षा नवोन्मेष संगठन' द्वारा वित्त पोषित और व्यवस्थित किया जाएगा जो दो संस्थापक सदस्यों- रक्षा सार्वजनिक क्षेत्र उपक्रम (DPSU)- HAL और BEL द्वारा इस उद्देश्य के लिए कम्पनीज़ ऐक्ट २०१३ के अनुभाग के तहत एक लाभ निरपेक्ष कंपनी के रूप में बनाया गया है. रक्षा उत्कृष्टता के नवाचार, सभी अपेक्षित गतिविधियों को पूरा करते हुए DIO के कार्यपालक भुजा के रूप में प्रदर्शन करेगा जबकि DIO रक्षा उत्कृष्टता के नवाचार को उच्चस्तरीय नीति का दिशानिर्देश प्रदान करेगा.

हमारे उद्देश्य

सशक्त करना

भारतीय रक्षा और वांतरिक्ष क्षेत्रों में एक प्रौद्योगिकी सह-निर्माण और सह-नवोन्मेष की संस्कृति को सशक्त करना

सृजन करना

अभिनव युवा व्यापारों के साथ एक अनुबंध की संस्कृति का सृजन करना

सुकर बनाना

भारतीय रक्षा और वांतरिक्ष क्षेत्र के लिए नए स्वदेशीकरण और अभिनव प्रौद्योगिकियों के तीव्र विकास को सुकर बनाना, इन क्षेत्रों की ज़रूरतों को कम समयसीमाओं में पूरा करने के लिए